9/14/10

छोटी सी उमर परनाई ओ बबा सा- नुसरत, शोभा गुर्टू

'छोटी सी उमर, परनाई ओ बबा सा'
आज ये गीत सुनिए दो बड़े उस्तादों,
शोभा गुर्टू और नुसरत साहब की आवाज़ में!

इस गीत के भीतर इतनी गहरी बेचैनी भरी है, और इसे इतना प्रभावी गाया गया है कि शब्द सचमुच साथ छोड़ देते हैं.

2 comments: