6/26/11

या हइयो, या कय्यूम- नुसरत साब


नुसरत साब को सुनते-सुनते तो सूफीपना तारी हुआ जाता है. फानी दुनिया में टिकने का भरोसा हासिल हुआ. शुक्रिया नुसरत साब ...